भारत के प्रमुख बंदरगाह (India's Major Ports in Hindi)





भारत के तटवर्ती इलाकों में 13 बड़े बंदरगाह और 200 छोटे बंदरगाह हैं। बड़े बंदरगाह केंद्र सरकार और छोटे बंदरगाह राज्‍य सरकारों के अंतर्गत आते हैं।


देश में स्‍थित 13 बड़े बंदरगाह पूर्वी और पश्‍चिमी तटों पर समान रूप से बनाए गए हैं। कोलकाता, पारादीप, विशाखापत्तनम, हल्दिया, चेन्‍नई, एन्‍नोर और तूतीकोरिन बंदरगाह भारत के पूर्वी तट पर स्‍थित हैं, जबकि कोचीन, मंगलौर, मोरमुगाओ, मुंबई, न्हावाशेवा पर जवाहरलाल नेहरू और कांडला बंदरगाह पश्‍चिमी तट पर स्‍थित हैं।


भारत के प्रमुख बंदरगाह -
नामनदी/समुद्रराज्य/के.शा.प्र.
मुंबईअरबसागरमहाराष्ट्र
पारादीपबंगाल की खाड़ीआंद्रप्रदेश, ओडिशा
चेन्नईबंगाल की खाड़ीतमिलनाडु
विशाखापट्टनमबंगाल की खाड़ीआन्ध्र प्रदेश
कांडलाकच्छ की खाड़ीगुजरात
मुर्मुगावअरबसागरगोवा
जवाहरलालनेहरुअरबसागरमहाराष्ट्र
कोचीनअरब सागरकेरल
इन्नौरबंगाल की खाड़ीतमिलनाडु
हल्दियाकोलकाता-हुगलीनदीपशिम बंगाल
न्यू तूतीकोरिनबंगाल की खाड़ीतमिलनाडु
न्यू मंगलोरअरब सागरकर्नाटक
पोर्टब्लेयरबंगाल की खाड़ीअंडमान निकोबार द्वीप समूह




बंदरगाहों से संबंधित अन्य तथ्य -


भारत में 13 बड़े तथा 200 से अधिक छोटे बंदरगाह है हम यह कुछ प्रमुख बंदरगाह के बारे में जानकारी दे रहे है -

1.मुंबई बंदरगाह
  • यह एक प्राकृतिक बंदरगाह है जो मुंबई में स्थित है। 
  • इसे भारत का प्रवेश द्वार कहा जाता है।  यह अन्य बंदरगाहों की अपेक्षा अधिक विस्तृत है। 
  • इस बंदरगाह की क्षमता लगभग 200 टन से अधिक है। 
  • भारत का सर्वाधिक व्यापार इसी बंदरगाह से होता है।
  • पश्चिमी तट का सबसे बड़ा प्राकृतिक बंदरगाह।
  • सर्वाधिक आयात करने वाला बंदरगाह (भारत का 20% व्यापार यही से)।

2.न्हावाशेवा बंदरगाह (जवाहरलाल नेहरू)
  • यह मुंबई बंदरगाह के निकट ही स्थित है इसका निर्माण मुंबई बंदरगाह का दबाव कम करने के लिए किया गया। 
  • न्हावाशेवा बंदरगाह देश सबसे आधुनिक एवं सर्वसुविधायुक्त बंदरगाह है
  • शुष्क सामाग्री के व्यापार हेतु प्रसिद्ध।

3.कांडला बंदरगाह
  • यह गुजरात राज्य की कच्छ की खाड़ी में स्थित ज्वारीय बंदरगाह है। 
  • इसके निकट के राज्यों में खनिज तेल, सीमेंट, रसायन, सूती वस्त्र इत्यादि औद्योगो का विकास होने से इसका महत्व बढ़ गया है। 
  • इस बंदरगाह से भारी मात्रा में कपास, सूती वस्त्र, उर्वरक,कच्चा तेल, पोटास, फास्फेट, नमक आदि का निर्यात किया जाता है।

4.मर्मागोवा बंदरगाह
  • यह गोवा राज्य में अरब सागर के तट पर स्थित  प्राकृतिक बंदरगाह हैं । 

5.न्यू मंगलौर बंदरगाह
  • न्यू मंगलौर बंदरगाह कर्नाटक राज्य के समुद्र तट पर स्थित है।  
  • इस बंदरगाह से कद्रमुख की खान से निकला लौह अयस्क निर्यात किया जाता है । 

6.कोच्चि बंदरगाह
  • यह केरल राज्य में स्थित एक प्राकृतिक बंदरगाह है जिसमें बड़े जहाज भी ठहर सकते हैं। 
  • कोच्चि बंदरगाह भारत के पश्चिमी तट का सर्वश्रेष्ठ बंदरगाह माना गया है। 
  • चाय, कॉफी व मसालों के निर्यात के लिये प्रसिद्ध।

7.कोलकाता बंदरगाह
  • यह पश्चिम बंगाल में हुगली नदी के किनारे स्थित कृत्रिम बंदरगाह है। 
  • यह पूर्वी तट का सबसे बड़ा तथा भारत का दूसरा बड़ा बंदरगाह है। 
  • कोलकाता बंदरगाह के दक्षिण में हल्दिया बंदरगाह को विकसित किया गया है ।
8.हल्दिया
  • कलकत्ता बंदरगाह के दक्षिण में हुगली नदी पर कलकत्ता के भार को कम करने हेतु बनाया गया।
  • यहां तेलशोधन कारखाना भी हैं।

9.विशाखापत्तनम बंदरगाह

  • यह बंदरगाह देश के पूर्वी तट पर आंध्र प्रदेश के महानगर विशाखापत्तनम में स्थित है । 
  • यह एक प्राकृतिक एवं गहरा बंदरगाह है। भारत का सबसे गहरा बंदरगाह
  • यह जहाजों का निर्माण एवं मरम्मत की जाती है। 
  • यह बंदरगाह अपने कार्यों की गुणवत्ता एवं उत्पादकता के लिए प्रसिद्ध है। 

10.चेन्नई बंदरगाह
  • भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित यह एक कृत्रिम बंदरगाह है । 
  • भारत का दूसरा सबसे बड़ा यातायात घनत्व वाला बंदरगाह और भारत का सबसे पुराना कृत्रिम बंदरगाह।
  • एन्नौर बंदरगाह को चेन्नई बंदरगाह का दबाव कम करने के लिए विकसित किया गया है।

11.पाराद्वीप बंदरगाह
  • यह भारत के पूर्वी तट के किनारे उड़ीसा राज्य में स्थित है। 
  • यह कोलकाता तथा विशाखापत्तनम बंदरगाह के लगभग बीच में स्थित प्राकृतिक संरचना का बंदरगाह है। 
  • इस बंदरगाह से उड़ीसा एवं बिहार के खनिजों का निर्यात किया जाता है तथा मशीनें,उर्वरक,गंधक, इंजीनियरिंग सामान आयत किए जाते हैं।

12.तूतीकोरन बंदरगाह
  • यह बंदरगाह तमिलनाडु राज्य के दक्षिणी छोर पर स्थित है। 
  • यहां से नमक,मछली, सीमेंट,लिग्नाइट, तम्बाकू, चावल आदि निर्यात किया जाता है एवं मशीनें,उर्वरक,सूती वस्त्र इत्यादि वस्तुओं का आयात होता है। 
13.पोर्ट ब्लेयर
  • अंडमान निकोबार। 
  • 2010 में तेरहवें बंदरगाह के रूप में मान्यता



दोस्तो कोचिंग संस्थान के बिना अपने दम पर Self Studies करें और महत्वपूर्ण पुस्तको का अध्ययन करें , हम आपको Civil Services के लिये महत्वपूर्ण पुस्तकों की सुची उपलब्ध करा रहे है –
तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें ! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

5 टिप्‍पणियां:

Thank You