GK Fact in Hindi - 5





सामान्य ज्ञान से संबंधित ऐसे मुख्य तथ्य जो लगभग हर प्रतियोगी परीक्षा में आवश्यक रूप से आते है ! इन तथ्यों को आपको अवश्य पढना चाहिऐ !!

1. रेबीज का टीका किसने बनाया ?
Ans- लुई पाश्चर ने

2. सबसे कम उम्र में राष्ट्रपति पद को सुशोभित करनेवाले व्यक्ति कौन थे ?
Ans- नीलम संजीव रेड्डी

3. 1665 ई. में पुरंदर की संधि किनके मध्य हुई ?
Ans- जयसिंह और शिवाजी के मध्य

4. सम्राट् अकबर द्वारा किसको ‘जरी कलम’ की उपाधि से अलंकृत किया गया था ?
Ans- मोहम्मद हुसैन को

5. ‘‘मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना’’-यह पंक्ति किसकी रचना है ?
Ans- मोहम्मद इकबाल की

6. पृथ्वी की किस परत को सियाल भी कहते हैं ?
Ans- भू-पर्पटी को

7. कौन सहायक संधि को स्वीकार करने वाला पहला भारतीय राजा था ?
Ans- हैदराबाद का निजाम

8. भारतीय विदेश व्यापार संस्थान कहाँ स्थित है ?
Ans- नई दिल्ली में

9. किसको ‘शीरी कलम’ की उपाधि से नवाजा गया था ?
Ans-  अब्दुस्समद को

10.‘‘वंदना के इन स्वरों में एक स्वर मेरा मिला लो’ यह काव्य पंक्ति किस कवि द्वारा रचित है ?
Ans- सोहनलाल द्विवेदी द्वारा

11. कार या बस में ब्रेक लगाने के लिए कौन उत्तरदायी है ?
Ans- घर्षण

12. सबसे अधिक उम्र में राष्ट्रपति पद को सुशोभित करनेवाले व्यक्ति कौन थे ?
Ans- वी. वी. गिरि

13. किसमें क्लोरीन की आॅक्सीकरण अवस्था +1 है ?
Ans- हाइपोक्लोरस अम्ल में

14. पिट्राड्यूरा का आरंभ किसने करवाया ?
Ans- जहाँगीर ने

15. किस देश का राष्ट्रीय पशु कंगारू है ?
Ans- आस्ट्रेलिया का

16. भूपर्पटी में सर्वाधिक पाया जाने वाला तत्व कौन-सा है ?
Ans- आॅक्सीजन

17. नासा के एक टेलिस्कोप ‘केप्लर मिशन’ का प्रमोचन कब किया गया ?
Ans- 7 मार्च, 2009 को

18. एल. एन. जी. के आयात के लिए भारत में पहला एल. एन. जी. टर्मिनल कहाँ स्थापित किया गया है ?
Ans- दाहेज में

19. किस वायसराय के कार्यकाल में भारत में संविधन सभा का गठन हुआ ?
Ans- लाॅर्ड वेवेल के

20. किस देश का राजनीतिक दल ‘बाथ पार्टी’ है ?
Ans- इराक का

21. आवृतबीजी के किस कुल से नारियल संबद्ध है ?
Ans- पाल्मी

22. अब तक सर्वाधिक व्यक्ति जो बतौर राष्ट्रपति निर्वाचित हुए हैं, किस राज्य से संबद्ध थे ?
Ans- आंध्र प्रदेश

23. चिड़िया का आकाश में उड़ना न्यूटन के गति के किस नियम से संबद्ध है ?
Ans- गति के तृतीय नियम से

24. जिस समय केबिनेट मिशन भारत आया, उस समय ब्रिटेन का प्रधनमंत्राी कौन था ?
Ans- क्लीमेंट एटली

25. सी.बी.आई. किस देश की गुप्तचर संस्था है ?
Ans- भारत की

26. पृथ्वी का कोर किस रूप में है ?
Ans- पिघला द्रव्य

27. आधुनिक विश्व की प्रथम राजनीतिक चिंतक किसे माना जाता है ?
Ans- मैक्यावेली को

28. किस वर्ग के देशों के साथ भारत का  सर्वाधिक आयात व्यापार है ?
Ans- ओपेक के साथ

29. ‘वेवेल प्लान’ की घोषणा लाॅर्ड वेवेल ने कब की थी ?
Ans- 14 जून, 1945 को

30. CIA किस देश की गुप्तचर एजेंसी है ?
Ans- संयुक्त राज्य अमेरिका की





Related Posts - 

GK Fact in Hindi - 4




सामान्य ज्ञान से संबंधित ऐसे मुख्य तथ्य जो लगभग हर प्रतियोगी परीक्षा में आवश्यक रूप से आते है ! इन तथ्यों को आपको अवश्य पढना चाहिऐ !!

1. लोहे पर जंग लगाना किसका उदाहरण है ?
Ans- आॅक्सीकरण का

2. मंत्रिमंडल की बैठक की अध्यक्षता कौन करता है ?
Ans- प्रधानमंत्री

3. एन्जियोस्पर्म के किस कुल से गन्ना संबद्ध है ?
Ans- ग्रेमिनेसी कुल से

4. ॠग्वेद में दीर्घकालीन या आजीवन अविवाहित कन्या को क्या कहा गया ?
Ans- अमाजू

5. ‘ग्रीनपीस इन्टरनेशनल’ का मुख्यालय कहाँ स्थित है ?
Ans- एम्सटर्डम में

6. विश्व का सबसे उंचा पठार कौन-सा है ?
Ans- तिब्बत का पठार

7. शेन वार्न सेंचुरी-माई टाॅप 100 टेस्ट क्रिकेटर्स’ किसकी लिखी पुस्तक है ?
Ans- शेन वार्न

8. भारत में पहली कृषि जनगणना किस वित्तीय वर्ष में हुई थी ?
Ans- 1970 - 71 में

9. ॠग्वेद में ‘दस्यु’ शब्द किसके लिए प्रयुक्त है ?
Ans- अनार्यों के लिए

10. ‘अंतर्राष्ट्रीय मोबाइल उपग्रह संगठन’ की स्थापना किस वर्ष की गई ?
Ans- 1979 ई. में

11. एक आदमी 5 KG का एक सूटकेस पकड़े है, तो उसके द्वारा किया गया कार्य क्या होगा ?
Ans- शून्य

12. यदि राष्ट्रपति यह चाहता है कि किसी बात पर मंत्रिपरिषद् विचार करे तो वह इसकी सूचना किसे देता है ?
Ans- प्रधानमंत्री को

13. किसी गैस का अणुभार उसके वाष्प घनत्व का कितना होता है ?
Ans- दुगुना

14. ‘गोपथ ब्राह्मण’ किस वेद से सम्बन्ध्ति है ?
Ans- अथर्ववेद

15. मानकीकरण के लिए अंतर्राष्ट्रीय संगठन की स्थापना किस वर्ष की गई ?
Ans- 1947 ई. में

16. कोटोपैक्सी पर्वत किस देश में स्थित है ?
Ans- इक्वेडोर में

17. एक कोशिकीय जीवों का अध्ययन सर्वप्रथम किस वैज्ञानिक ने किया ?
Ans- ल्यूवेनहाॅक ने

18. केवल किसके प्रयोग के लिए भुगतान को आर्थिक लगान कहते हैं ?
Ans- भूमि के प्रयोग के लिए

19. इल्तुतमिश के राज दरबार में किस इतिहासकार को संरक्षण मिला था ?
Ans- मिन्हाज-उस-सिराज को

20. मानकीकरण के लिए अंतर्राष्ट्रीय संगठन का मुख्यालय कहाँ स्थित है ?
Ans- जेनेवा, स्विट्जरलैंडद्ध में

21. सेब का खाने योग्य भाग क्या कहलाता है ?
Ans- गुद्देदार पुष्पासन

22. भारत के प्रथम कार्यवाहक प्रधनमंत्राी कौन थे ?
Ans- गुलजारी लाल नंदा

23. अंग्रेजों ने दक्षिण भारत में अपनी पहली फैक्ट्री कहाँ और कब खोली ?
Ans- मसुलीपट्टम में, 1611 ई. में

24. नील विद्रोह का जमकर समर्थन करने वाले ‘हिन्दू पैट्रियाट’ के संपादक कौन थे ?
Ans- हरीशचंद्र मुखर्जी

25. भारत का सर्वाधिक ऊंचाई पर स्थित युद्ध स्थल कौन-सा है ?
Ans- सियाचिन क्षे्त्र

26. विश्व के सबसे ऊंचे पर्वतों का निर्माण किस हलचल के दौरान हुआ है ?
Ans- अल्पाइन हलचल के दौरान

27. किस गवर्नर जनरल के शासन काल में चतुर्थ आंग्ल-मैसूर युद्ध हुआ, जिसमें टीपू सुल्तान मारा गया था ?
Ans- लाॅर्ड वेलेजली

28. हरित क्रांति का प्रभाव किस तरह के फसलों पर नगण्य या अत्यन्त कम रहा ?
Ans- मोटे अनाजों पर

29.पाण्ड्य शासकों की राजधनी कहाँ थी ?
Ans- मदुरई

30. भारत का सबसे बड़ा नदी द्वीप कौन-सा है ?
Ans- माजुली, असम




Related Posts - 

GK Fact in Hindi - 3



सामान्य ज्ञान से संबंधित ऐसे मुख्य तथ्य जो लगभग हर प्रतियोगी परीक्षा में आवश्यक रूप से आते है ! इन तथ्यों को आपको अवश्य पढना चाहिऐ !! - 


General Knowledge (GK) in Hindi(3)
Answer - 
General Knowledge (GK) in Hindi(3) Answer



Related Posts - 

GK Fact in Hindi - 2



सामान्य ज्ञान से संबंधित ऐसे मुख्य तथ्य जो लगभग हर प्रतियोगी परीक्षा में आवश्यक रूप से आते है ! इन तथ्यों को आपको अवश्य पढना चाहिऐ !! - 


General Knowledge (GK) in Hindi(2)





Answer - 
General Knowledge (GK) in Hindi(2) Answer
Related Posts - 

GK Fact in Hindi - 1


सामान्य ज्ञान से संबंधित ऐसे मुख्य तथ्य जो लगभग हर प्रतियोगी परीक्षा में आवश्यक रूप से आते है ! इन तथ्यों को आपको अवश्य पढना चाहिऐ !! - 


General Knowledge (GK) in Hindi(1) 



Answer -
General Knowledge (GK) in Hindi(1) Answer

Related Posts - 

GK Trick - विज्ञान चालीसा - विज्ञान के महत्वपूर्ण तथ्य कविता के रूप में




Genral Knowledge से संबंधित जटिल तथ्य जिन्हें आप आसानी से याद नही रख पाते, उन तथ्यों को इस पुस्तक में बहुत ही आसान रोचक तरीके से प्रस्तुत किया गया है !! इस पुस्तक के माध्यम से आप बहुत ही कम समय मे सामान्य ज्ञान को याद कर पायेगें !!
एक उदाहरण हमारी BOOK का - 

   जय न्यूटन विज्ञान के आगर, गति खोजत ते भरि गये सागर ।
   ग्राहम् बेल फोन के दाता, जनसंचार के भाग्य विधाता ।
   बल्ब प्रकाश खोज करि लीन्हा, मित्र एडीशन परम प्रवीना ।
   बायल और चाल्स ने जाना, ताप दाब सम्बन्ध पुराना ।
   नाभिक खोजि परम गतिशीला, रदरफोर्ड हैं अतिगुणशीला ।
   खोज करत जब थके टामसन, तबहिं भये इलेक्ट्रान के दर्शन ।
   जबहिं देखि न्यट्रोन को पाए, जेम्स चैडविक अति हरषाये । 
   भेद रेडियम करत बखाना, मैडम क्यूरी परम सुजाना ।
   बने कार्बनिक दैव शक्ति से, बर्जीलियस के शुद्ध कथन से ।
   बनी यूरिया जब वोहलर से, सभी कार्बनिक जन्म यहीं से ।
   जान डाल्टन के गूँजे स्वर, आशिंक दाब के योग बराबर ।
   जय जय जय द्विचक्रवाहिनी, मैकमिलन की भुजा दाहिनी ।
   सिलने हेतु शक्ति के दाता, एलियास हैं भाग्यविधाता ।
   सत्य कहूँ यह सुन्दर वचना, ल्यूवेन हुक की है यह रचना ।
   कोटि सहस्र गुना सब दीखे, सूक्ष्म बाल भी दण्ड सरीखे ।
   देखहिं देखि कार्क के अन्दर, खोज कोशिका है अति सुन्दर ।
   काया की जिससे भयी रचना, राबर्ट हुक का था यह सपना ।
   टेलिस्कोप का नाम है प्यारा, मुट्ठी में ब्रम्हाण्ड है सारा ।
   गैलिलियो ने ऐसा जाना, अविष्कार परम पुराना ।
   विद्युत है चुम्बक की दाता, सुंदर कथन मनहिं हर्षाता ।
   पर चुम्बक से विद्युत आई, ओर्स्टेड की कठिन कमाई ।
   ओम नियम की कथा सुहाती, धारा विभव है समानुपाती ।
   एहि सन् उद्गगम करै विरोधा, लेन्ज नियम अति परम प्रबोधा ।
   चुम्बक विद्युत देखि प्रसंगा, फैराडे मन उदित तरंगा ।
   धारा उद्गगम फिरि मन मोहे, मान निगेटिव फ्लक्स के होवे ।
   जय जगदीश सबहिं को साजे, वायरलेस अब हस्त बिराजै ।
   अलेक्जेंडर फ्लेमिंग आए, पैसिंलिन से घाव भराये । 
   आनुवांशिकी का यह दान, कर लो मेण्डल का सम्मान ।
   डा रागंजन सुनहु प्रसंगा, एक्स किरण की उज्ज्वल गंगा ।
   मैक्स प्लांक के सुन्दर वचना, क्वाण्टम अंक उन्हीं की रचना ।
   फ्रैंकलिन की अजब कहानी, देखि पतंग प्रकृति हरषानी ।
   डार्विन ने यह रीति बनाई, सरल जीव से सॄष्टि रचाई ।
   परि प्रकाश फोटान जो धाये, आइंस्टीन देखि हरषाए ।
   षष्ठ भुजा में बेंजीन आई, लगी केकुले को सुखदाई ।
   देखि रेडियो मारकोनी का, मन उमंग से भरा सभी का ।
   कृत्रिम जीन का तोहफा लैके, हरगोविंद खुराना आए ।
   ऊर्जा की परमाणु इकाई, डॉ भाषा के मन भाई ।
   थामस ग्राहम अति विख्याता, गैसों के विसरण के ज्ञाता ।
   जो यह पढ़े विज्ञान चालीसा, देइ उसे विज्ञान आशीषा ।
   श्री "निशीथ" अब इसके चेरा, मन मस्तिष्क में इसका डेरा ।

इसी तरह की ओर अधिक Tricks पाने के लिये खरीदिये GK Trick की किताब -

_____________________________
____________________________________________




Related Posts - 
Note - अगर आपके पास हिन्दी में अपना खुद का लिखा हुआ कोई Motivational लेख या सामान्य ज्ञान से संबंधित कोई साम्रगी या प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित कोई भी साम्रगी है जो आप हमारी बेबसाइट पर पब्लिश कराना चाहते है तो क्रपया हमें gupta.nitin64@gmail.com पर अपने फोटो व नाम के साथ मेल करें ! पसंद आने पर उसे आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !
आपका दोस्त - नितिन गुप्ता

GK Trick - महारत्न कंपनियां





इसी तरह की ओर अधिक Tricks पाने के लिये खरीदिये GK Trick की किताब -
_____________________________

I.A.S. Officer बनने के लिये कुछ खास टिप्स





  • सिविल सर्विसेज की तैयारी करने से पहले इस एग्जाम की फिलोसफी को समझना बहुत जरुरी है
  • क्योंकि दिन-रात पढना, अच्छी कोचिंग जाना या सैकड़ों किताबें पढना इस एग्जाम में सफलता की गारंटी नहीं है
  • सफल व्यक्ति का भाषण ना सुनें – तैयारी करने वाले सबसे बड़ी गलती यह करते हैं कि वे हर सफल व्यक्ति का भाषण बड़े गौर से सुनते हैं और उसे कॉपी करने की कोशिश करते हैं जो बहुत घातक साबित होता है क्योंकि सफल व्यक्ति कभी भी पूरी ईमानदारी से अपनी पढ़ाई का तरीका नहीं बताता
  • वह हर चीज़ को बढ़ा- चढ़ाकर बताता है क्योंकि वह अपने आप को दूसरों से विशेष दिखाना चाहता है
  • हम जो देखते, सुनते और पढ़ते हैं वह हमेशा सही नहीं होता – इसलिए किसी की बात को सुनकर उसपर आँख करके विश्वास मत करो ...ना ही उसकी कॉपी करो
  • जो लोग कहते हैं कि उन्होंने 5 साल तक 18-18 घंटे मेहनत की तब IAS बन पाए हैं ...उनपर दया करो ...क्योंकि मुझे लगता है अगर किसी व्यक्ति को इस एग्जाम को क्लियर करने में इतना समय लगा तो उससे बड़ा गधा इस दुनिया में और कोई नहीं हो सकता
  • जबसे नया पैटर्न आया है यह परीक्षा इतनी आसान हो गई है कि अब 45% अंक लाने पर IAS टॉप कर जाते हैं और 38% मार्क्स आ जाने पर आपका IAS बनना पक्का होता है
  • कभी आपने सोचा कि लोग इस परीक्षा में इतना कम स्कोर क्यों कर पाते हैं ...ध्यान रखिये कि सिलेबस बनाने वाले ना तो मूर्ख हैं और ना ही आपके दुश्मन हैं ....अगर आप कम स्कोर कर रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप इस एग्जाम को समझ ही नहीं पाए हैं
  • ये पक्का है कि UPSC आपकी मदद करने के लिए ही बैठा है ... पर सवाल यह है कि आप अपना हाथ आगे बढ़ा पा रहे हैं या नहीं
  • कुछ समय से लगातार यह हौआ बनाया जा रहा है कि सिविल सर्विसेज एक बहुत ही मुश्किल और कठिन एग्जाम है ....और यह हौआ बनाने में मार्केट फोर्सेज का सबसे ज्यादा योगदान हैं ताकि डरकर आप कोचिंग क्लासेज ज्वाइन करो....और सैकड़ों किताबें खरीदो
  • ग्रेजुएट राजा से बड़ा होता है- याद रखिये आप ‘स्नातक’ हैं पर आजकल आप स्नातक की मर्यादा की रक्षा नहीं कर पाते ...उपनिषद में एक सन्दर्भ है कि जब किसी स्नातक की सवारी निकलती थी तो राजा अपनी सवारी सड़क के किनारे रोककर स्नातक को रास्ता देते थे
  • यदि आप में स्नातक हैं तो आपको सिविल सर्विसेज की तैयारी के लिए किसी की मदद की जरुरत नहीं है
  • पर आजकल परेशानी यह है कि लोग केवल परीक्षा में अंक लाने के लिए पढ़ते हैं कुछ सीखने के लिए .....मेरा दावा है कि अगर आपको अपनी 12 वीं तक की पूरी पढ़ाई याद है तो कोई भी आपको सिविल सर्विसेज क्वालीफाई करने से नहीं रोक सकता
  • सिविल सर्विसेज के एग्जाम में 12 वीं तक का ज्ञान व एक ग्रेजुएट की विचार क्षमता का परीक्षण किया जाता है 
  • इस परीक्षा में आपसे वही पूंछा जाता है जिसकी अपेक्षा एक सामान्य व्यक्ति से की जा सकती है
  • हर काम को करने से पहले अपने आप से यह सवाल पूँछिये कि आप यह काम क्यों कर रहे हैं
  • सिविल सर्विसेज की तैयारी में ‘ध्येय’ महत्वपूर्ण है ना कि वहां पहुँचने का तरीका ...इसलिए तैयारी का कोई तरीका सटीक नहीं है ...आपकी नज़र ध्येय पर होनी चाहिए रास्ता अपने आप बनता जाता है
  • IAS ज्ञान की परीक्षा नहीं है – सिविल सर्विसेज में आपका ज्ञान नहीं जांचा जाता बल्कि आपमें वह काबिलियत देखि जाती है जो एक सिविल सेवक में होना चाहिए
  • जो पढ़ते हैं वह आगे कभी काम नहीं आता – IAS की तैयारी के लिए आप जो भी विषय पढ़ते हैं चयनित हो जाने के बाद वो कहीं काम नहीं आते .....अगर कुछ काम आता है तो वह है आपकी स्किल्स ....इसीलिये यह परीक्षा आजकल ज्ञान की जगह व्यक्तित्व की परीक्षा बन गई है
  • UPSC के किसी फॉर्म में आपसे ये कभी नहीं पूंछा जाता कि आपने कौन सी किताबें पढी हैं या आप दिन में कितने घंटे पढ़ते थे ......बल्कि यह पूंछा जाता है कि आपकी हाबीज क्या हैं क्योंकि आपकी हाबीज ही आपके व्यक्तित्व की पहचान हैं
  • ज्ञानी व्यक्ति बहुत बुरे प्रशासक होते हैं – जो व्यक्ति बहुत ज्ञानी होते हैं वो सामान्यतः अच्छा प्रशासन अन्हीं चला पाते इसलिए यह परीक्षा सबसे ज्यादा ज्ञानी लोगों की खोज करने के लिए नहीं है
  • ज्ञानी ही चाहिए होते तो यूनिवर्सिटी टॉपर को ही सीधे IAS बना देते – कितना आसान था UPSC के लिए भी ...अगर उन्हें देश के सबसे ज्ञानी लोगों को IAS बनाना होता तो वे परीक्षा कराने की वजाय सीधे हर यूनिवर्सिटी के टॉपर को ही IAS बना देते
  • अनपढ़ अकबर देश का सबसे अच्छा प्रशासक था – अकबर तो बिलकुल पढ़ा लिखा नहीं था पर उसके शासन को देश के सबसे बेहतरीन प्रशासन के लिए जाना जाता है ...यहाँ तक कि उस समय देश के सबसे बेहतरीन विद्वान् भी उसके नवरत्नों में शामिल थे और अकबर उनके ज्ञान का प्रशासन चलाने में इस्तेमाल करता था ......क्योंकि अकबर में प्रशासनिक क्षमता अच्छी थी
  • कोई अर्थशास्त्री आज तक सफल व्यवसायी नहीं बन पाया – बड़े बड़े अर्थशास्त्री जिन्होंने बिजनेस बढाने की बड़ी बड़ी तरकीबें सुझायीं ....कभी अच्छे व्यवसायी नहीं बन पाए ....क्योंकि उनमें किताबी ज्ञान ज्यादा और व्यवहारिक ज्ञान कम था
  • सिविल सर्विसेज आपके व्यवहारिक ज्ञान की परीक्षा है I व्यवहारिक ज्ञान आपके ऑब्जरवेशन,अनुभव, विश्लेषण और कॉमनसेंस से मिलकर बनता है
  • जो प्रश्न उठाना नहीं जानता व IAS नहीं बन सकता – हर बात जो आप सुनते देखते या देखते हैं उस पर प्रश्न उठाइये...उस पर शक कीजिये ...और जब तक पूरी तरह संतुष्ट ना हो जाएँ तब तक उसे ना मानिए
  • सिविल सर्वेन्ट्स में दो सबसे बड़े गुण होते हैं – ओरिजिनालिटी और डिसीजन मेकिंग
  • UPSC आपमें वह रॉ मटेरियल ढूंढती है जिसे आगे चलकर एक बेहतरीन प्रशासक के रूप में ढाला जा सके
  • IAS की तैयारी मतलब आ बैल मुझे मार – सिविल सर्विस में आने का मतलब है अपने सिर पर और जिम्मेदारियां लेना .....यदि आप जिम्मेदारियों से बचना चाहते हैं या अपनी वर्तमान जिम्मेदारियों को ही अच्छे से पूरा नहीं कर पा रहे हैं तो कृपया इस फील्ड में ना आयें
  • देखें ..आप बदलाव के लिए कितने तैयार हैं – सिविल सेवक बनने की चाहत रखने का अर्थ है आप अपनी वर्तमान पहचान बदलकर सिविल सेवक के रूप में पचाने जाना चाहते हो ....याद रखिये कि अगर आप अपनी इमेज बदलना चाहते हैं तो आपको उसके लिए स्वयं में बहुत बदलाव करने की जरुरत है ....क्या आप इन बदलावों के लिए तैयार हैं
  • जो पूंछा जाता है वह किताबों में नहीं है – सिविल सर्विसेज में जो पूंछा जाता है वह किताबों में नहीं होता ....क्योंकि यहाँ वह पूंछा जाता है जो अभी चल रहा है
  • चयन इस आधार पर कि आप नया क्या सोच पाते हैं – सिविल सर्विसेज में आपका चयन इस बात पर निर्भर करता है कि आप किसी भी विषय पर क्या नया सोच पाते हैं ....और कुछ भी नया आप तब सोच पाते हैं जब आप अपना खुद का ऑब्जरवेशन विकसित करते हैं और अपने ऑब्जरवेशन को तार्किक तरीके से लोगों के सामने रख पाते हैं
  • सरल’ सबसे कठिन होता है – IAS में आजकल बहुत आसन प्रश्न पूंछे जाते हैं जिनके उत्तर सबको आते हैं पर सब लिखते अलग अलग हैं ....आपके यही उत्तर आपको दूसरों से अलग दिखाते हैं
 साभार - नीलम मिश्रा & ध्रुव कुमार 




Releted Posts -        

__________________
_____________________________
____________________________________________

Note - अगर आपके पास हिन्दी में अपना खुद का लिखा हुआ कोई Motivational लेख या सामान्य ज्ञान से संबंधित कोई साम्रगी या प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित कोई भी साम्रगी है जो आप हमारी बेबसाइट पर पब्लिश कराना चाहते है तो क्रपया हमें gupta.nitin64@gmail.com पर अपने फोटो व नाम के साथ मेल करें ! पसंद आने पर उसे आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !
आपका दोस्त - नितिन गुप्ता