भारत में सामाजिक व धार्मिक सुधार आंदोलन (Social and Religious Reform Movement in India GK in Hindi)




सामाजिक-धार्मिक सुधार आन्दोलन 

19वीं सदी को भारत में धार्मिक एवं सामाजिक पुनर्जागरण की सदी माना गया है। इस समय ईस्ट इण्डिया कम्पनी की पाश्चात्य शिक्षा पद्धति से आधुनिक तत्कालीन युवा मन चिन्तनशील हो उठा, तरुण वृद्ध सभी इस विषय पर सोचने के लिए मजबूर हुए। यद्यपि कम्पनी ने भारत के धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप के प्रति संयम की नीति का पालन किया, लेकिन ऐसा उसने अपने राजनीतिक हित के लिए किया। पाश्चात्य शिक्षा से प्रभावित लोगों ने हिन्दू सामाजिक रचना, धर्म, रीति-रिवाज परम्पराओं को तर्क की कसौटी पर कसना आरम्भ कर दिया। इससे सामाजिक धार्मिक आन्दोलन का जन्म हुआ। अंग्रेज़ हुकूमत में सदियों की रूढ़ियों से जर्जर एवं अंधविश्वास से ग्रस्त औद्योगिकी नगर कलकत्ता, मुम्बई, कानपुर, लाहौर एवं मद्रास में साम्यवाद का प्रभाव कुछ अधिक रहा। भारतीय समाज को पुनर्जीवन प्रदान करने का प्रयत्न प्रबुद्ध भारतीय सामाजिक एवं धार्मिक सुधारकों, सुधारवादी ब्रिटिश गवर्नर-जनरलों एवं पाश्चात्य शिक्षा के प्रसार ने किया।

कुछ प्रमुख सामाजिक एवं धार्मिक सुधारक आंदोलन व उन्हें शुरू करने बाले महान विचारक एवं उनके शुरू होने का वर्ष यहां दिये जा रहे है ! जो निम्न है -  

सामाजिक व धार्मिक सुधार आंदोलननामवर्ष
अभिनव भारतवि डी सावरकर1905
ब्रह्मा समाजराजा राममोहन राय1828
इंडिया हाउसस्यामा जी कृष्ण वर्मा1905
प्रार्थना समाजआत्माराम पांडुरंग1867
आर्य समाजदयानंद सरस्वती1875
रामकृष्ण मिशनस्वामी विवेकानंद1897
थियोसोफिकल सोसाइटीमैडम ब्लावात्स्की एवं करनाल अल्काट1875
अलीगढ आंदोलनसैयद अहमद खान1875
यंग बंगाल आंदोलनहेनरी विवियन डेरोजियो1828
अहमदिया आंदोलनमिर्जा गुलाम अहमदिया1889
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेसए ओ ह्यूम1885
दिल्ली दरबारजॉर्ज पंचम1911
होमरूल आंदोलनएनीबेसेण्ट और बाल गंगाधर तिलक1916
मुस्लिम लीगनवाब सलीमुल्ला1906
बंगाल विभाजनलार्ड कर्जन1095
रौलेट एक्ट1919
जलियाँवाला बाग़ हत्याकांडजनरल डायर1919
खिलाफत आंदोलनमहात्मा गांधी1920
असहयोग आंदोलनमहात्मा गांधी1920
साइमन कमीशनसर जॉन साइमन1927
नेहरू रिपोर्टमोतीलाल नेहरू1928
पूर्ण स्वराज की घोषणाजवाहरलाल नेहरू1930
सविनय अवज्ञा आंदोलनमहात्मा गांधी1930
प्रथम गोलमेज सम्मलेन1930
द्वितीय गोलमेज सम्मलेन1931
तृतीय गोलमेज सम्मलेन1932
साम्प्रदायिक निर्णयरैम्जे मैकडोनाल्ड1932
क्रांतिकारी राष्ट्रवादचापेकर बंधुओं1897
अगस्त प्रस्ताव1940
क्रिप्स मिशन1942
भारत छोडो आंदोलनमहात्मा गांधी1942
राजगोपालाचारी फार्मूला1944
वेवेल योजना1945
कैबिनेट मिशन1946
एटली की घोषणा1948
माउंटबेटन योजना1947
चौरी चौरा हत्याकांड1922
साबरमती आश्रममहात्मा गांधी1916




Related Posts -
________________________
    ______________________
    _______________________________________________
    Note - अगर आपके पास हिन्दी में अपना खुद का लिखा हुआ कोई Motivational लेख या सामान्य ज्ञान से संबंधित कोई साम्रगी या प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित कोई भी साम्रगी है जो आप हमारी बेबसाइट पर पब्लिश कराना चाहते है तो क्रपया हमें gupta.nitin64@gmail.com पर अपने फोटो व नाम के साथ मेल करें ! पसंद आने पर उसे आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !
    आपका दोस्त - नितिन गुप्ता

    1 टिप्पणी:

    1. ध्यान हर कोई, Illuminati शामिल हों अमीर होने के लिए और
      प्रसिद्ध .... मेरा नाम सिकंदर है। के एक सदस्य हूँ
      ILLUMINANTY पुजारी MACANS एवेन्यू लंदन। इस का उपयोग कर रहा
      इस महान करने के लिए पृथ्वी के सदस्यों का परिचय मध्यम
      ब्रदरहुड समाज। हम अब रक्त का हिस्सा है या पर सौदा
      मांस या मौत। इसके बहुत अगर केवल एक सदस्य बनने के लिए आसान
      आप गंभीर हैं। क्या कभी दुनिया का हिस्सा आप कर रहे हैं, मैं
      भगवान अलेक्जेंडर के माध्यम से डाल दिया है और मदद करने के लिए सक्षम हो जाएगा
      आप एक सदस्य तनाव के बिना आप सभी को यह करना है बन जाते हैं
      मेरे इनबॉक्स या ईमेल भेजने के लिए (alexlive109@gmail.com)

      उत्तर देंहटाएं

    Thank You